Hello world!

Welcome to WordPress.com. This is your first post. Edit or delete it and start blogging!

Posted in Uncategorized | 1 Comment

Saraswati Chandra (1968) – Chandan Saa Badan

Singer: Mukesh  Music: Kalayanji – Anandji, Lyrics: Indeevar

Saraswati Chandra (1968)

Saraswati Chandra (1968)

( चन्दन सा बदन चंचल चितवन
धीरे से तेरा ये मुस्काना ) – २
मुझे दोष न देना जग वालों – (२)
हो जाऊँ अगर मैं दीवाना
चन्दन सा बदन चंचल चितवन

( ये काम कमान भँवे तेरी
पलकों के किनारे कजरारे ) – २
माथे पर सिंदूरी सूरज
होंठों पे दहकते अंगारे
साया भी जो तेरा पड़ जाए – (२)
आबाद हो दिल का वीराना
चन्दन सा बदन चंचल चितवन

( तन भी सुंदर मन भी सुंदर
तू सुंदरता की मूरत है ) – २
किसी और को शायद कम होगी
मुझे तेरी बहुत ज़रूरत है
पहले भी बहुत मैं तरसा हूँ – (२)
तू और न मुझको तरसाना

चन्दन सा बदन चंचल चितवन
धीरे से तेरा ये मुस्का
मुझे दोष न देना जग वालों – (२)
हो जाऊँ अगर मैं दीवाना
चन्दन सा बदन चंचल चितवन

(wikipedia) Saraswati Chandra (1968)

Posted in Uncategorized | Leave a comment

Humsaya (1968) – Dil Kii Awaaz Bhii Sun

Singer: Mohammed Rafi   Music: O P Nayyar  Lyrics: Shevan Rizvi

Humsaya (1968)

Humsaya (1968)

दिल की आवाज़ भी सुनऽ
( दिल की आवाज़ भी सुन मेरे फ़साने पे न जा
मेरी नज़रों की तरफ़ देख ज़माने पे न जा ) – २
दिल की आवाज़ भी सुनऽ

इक नज़र देख लेऽ
( इक नज़र देख ले जीने की इजाज़त दे दे
रूठने वाले वो पहली सी मुहब्बत दे दे ) – २

(इश्क़ मासूम है – २), इलज़ाम लगाने पे न जा
मेरी नज़रों की तरफ़ देख ज़माने पे न जा
दिल की आवाज़ भी सुनऽ

वक़्त इनसान पेऽ
( वक़्त इनसान पे ऐसा भी कभी आता है
राह में छोड़के साया भी चला जाता है ) – २

( दिन भी निकलेगा कभी – २), रात के आने पे न जा
मेरी नज़रों की तरफ़ देख ज़माने पे न जा
दिल की आवाज़ भी सुनऽ

मैं हक़ीक़त हूँऽ
( मैं हक़ीक़त हूँ ये इक रोज़ दिखाऊँगा तुझे
बेगुनाही पे मुहब्बत की रुलाऊँगा तुझे ) – २

दाग दिल के नहींऽ
दाग दिल के नहीं मिटते हैं मिटाने पे न जा
मेरी नज़रों की तरफ़ देख ज़माने पे न जा
दिल की आवाज़ भी सुनऽ

Posted in Uncategorized | 2 Comments

Chahat (1974) – Pyaar Bhare Do Sharmille Nayan

Singer:  Mehdi Hassan   Music: Dr Mujeeb Shad , Lyrics: Qateel Shifai

Chahat (1974)

Chahat (1974)

प्यार भरे, दो शर्मीले नैना
जिन से मिला, मेरे दिल को चैन
कोई जाने नां, तू मुझ से शर्मायें
कैसे मुझे तड़पायें
प्यार भरे दो शर्मीले नैना

दिल ये कहे, गीत मैं तेरे गाऊँ
तू ही सुने, और मैं गाता जाऊँ
तू जो रहे, साथ मेरे, दुनिया को ठुकराऊँ
तेरा दिल बहलाऊँ
प्यार भरे, दो शर्मीले नैना

डर है मुझे तुझसे बिछड़ ना जाऊँ
खो के तुझे मिलने की राह न पाऊँ
ऐसा न हो, जब भी तेरा नाम लबों पर लाऊँ
मैं आँसू बन जाऊँ

जिन  से  मिला  मेरे  दिल  को  चैन
कोई जाने नां, तू  मुझसे शर्मायें
कैसे  मुझे तड़पायें
प्यार भरे दो शर्मीले नैना

The original is नयन nayan(a) [eye] -> नैना nayna/ naina – can be used both as a singular and a plural!

Etymology seems to be Sanskrit: nayana / nay-ana =leading to, bringing, conducting; eye -a guiding organ!

Similarly, vama-nayana = fair-eyed woman.

Posted in Uncategorized | Leave a comment

Guide (1965) – Din Dhal Jaaye Haay

Singer:  Mohammad Rafi   Music: S D Burman, Lyrics: Shailendra Singh

Guide (1965)

Guide (1965)

दिन ढल जाये हाय, रात ना जाय
तू तो न आए तेरी, याद सताये,
दिन ढल जाये हाय, रात ना जाय
तू तो न आए तेरी, याद सताये
दिन ढल जाये
प्यार में जिनके, सब जग छोड़ा, और हुए बदनाम
उनके ही हाथों, हाल हुआ ये, बैठे हैं दिल को थाम
अपने कभी थे, अब हैं पराये
दिन ढल जाये हाय, रात ना जाय
तू तो न आए तेरी, याद सताये
दिन ढल जाये
ऐसी ही रिम-झिम, ऐसी फ़ुवारें, ऐसी ही थी बरसात
खुद से जुदा और, जग से पराये, हम दोनों थे साथ
फिर से वो सावन, अब क्यूँ न आये

दिन ढल जाये हाय, रात ना जाय
तू तो न आए तेरी, याद सताये
दिन ढल जाये
दिल के मेरे तुम, पास हो कितनी, फिर भी हो कितनी दूर
तुम मुझ से मैं, दिल से परेशाँ, दोनों हैं मजबूर
ऐसे में किसको, कौन मनाये

दिन ढल जाये हाय, रात ना जाय
तू तो न आए तेरी, याद सताये
दिन ढल जाये

(wikipedia) Guide (1963)

Posted in Uncategorized | Leave a comment

Khelein Hum Jee Jaan Sey (2010) – Yeh Des Hai Mera

Singer:  Sohail Sen   Music: Sohail Sen, Lyricist: Javed Akhtar

Khelein Hum Jee Jaan Sey (2010)

Khelein Hum Jee Jaan Sey (2010)

यह  देस  है  मेरा, यह  देस  है  मेरा
यह  पूछ  रहा  है, कहाँ  है  सवेरा
जाँ  रहे  ना  रहे  तू  तो  अब  यह  कहे
उजियारे  मैं  ढूंढ  लाऊं
ऐसी  हो  रौशनी, जाग  उठे  ज़िन्दगी
अंधियारे  सारे  मिटाऊं
अंधियारा  को  भुलाना  है
सूरज  नया  बनाना  है

यह  देस  है  मेरा, यह  देस  है  मेरा
यह  पूछ  रहा  है, कहाँ  है  सवेरा

जाँ  रहे  ना  रहे  तू  तो  अब  यह  कहे
उजियारे  मैं  ढूंढ  लाऊं
ऐसी  हो  रौशनी, जाग  उठे  ज़िन्दगी
अंधियारे  सारे  मिटाऊं
अंधियारा  को  भुलाना  है
सूरज  नया  बनाना  है

यह  देस  है  मेरा, यह  देस  है  मेरा
यह  पूछ  रहा  है, कहाँ  है  सवेरा

मुस्कुरा  उठे  जीवन, जो  दिन  में  सवाये
चेहरे  पर  जो  अब  है, वोह  गम  धुल  जाए
हर  दिशाः  उजाले बरसे
लाऊं  रौशनी  का  मैं  जो  मौसम

अंधियारा  को  भुलाना  है
सूरज  नया  बनाना  है

यह  देस  है  मेरा, यह  देस  है  मेरा
यह  पूछ  रहा  है, कहाँ  है  सवेरा

सपना  ऐसा  देखा  है  तो  सच  भी  है  करना
तसवीरें बनायी हैं  तो  रंग  भी  है  भरना
दिल  मेरा  यह  कह  रहा  है
सपनों  का  सच  से  तो  होगा  संगम

अंधियारा  को  भुलाना  है
सूरज  नया  बनाना  है

यह  देस  है  मेरा, यह  देस  है  मेरा
यह  पूछ  रहा  है, कहाँ  है  सवेरा

 

(wikipedia) Khelein Hum Jee Jaan Sey (2010)

 

Posted in Uncategorized | Leave a comment

Prem Pujari (1970) – Phuulon Ke Rang Se

Singer:  Kishore Kumar   Music: S D Burman, Lyricist: Neeraj

Prem Pujari (1970)

Prem Pujari (1970)

फूलों के रंग से, दिल की कलम से
तुझको लिखी रोज़ पाती
कैसे बताऊँ, किस किस तरह से
पल पल मुझे तू सताती
तेरे ही सपने, लेकर के सोया
तेरी ही यादों में जागा
तेरे खयालों में उलझा रहा यूँ
जैसे के माला में धागा

हाँ, बादल बिजली चंदन पानी जैसा अपना प्यार
लेना होगा जनम हमें, कई कई बार
हाँ, इतना मदिर, इतना मधुर तेरा मेरा प्यार
लेना होगा जनम हमें, कई कई बार

साँसों की सरगम, धड़कन की वीना
सपनों की गीताँजली तू
मन की गली में, महके जो हरदम
ऐसी जुही की कली तू
छोटा सफ़र हो, लम्बा सफ़र हो
सूनी डगर हो या मेला
याद तू आए, मन हो जाए, भीड़ के बीच अकेला
( हाँ, बादल बिजली, चंदन पानी जैसा अपना प्यार
लेना होगा जनम हमें, कई कई बार )  -२
पूरब हो पच्छिम, उत्तर हो दक्खिन
तू हर जगह मुस्कुराए
जितना हे जाऊँ, मैं दूर तुझसे
उतनी ही तू पास आए
आँधी ने रोका, पानी ने टोका
दुनिया ने हँस कर पुकारा
तसवीर तेरी, लेकिन लिये मैं, कर आया सबसे किनारा
हाँ, बादल बिजली, चंदन पानी जैसा अपना प्यार
लेना होगा जनम हमें, कई कई बार

हाँ, इतना मदिर, इतना मधुर तेरा मेरा प्यार
लेना होगा जनम हमें, कई कई बार
कई, कई बार… कई, कई बार …

(wikipedia) Prem Pujari (1970)

Posted in Uncategorized | Leave a comment

Kohraa (1964) – Ye Nayan Dare Dare

Singer:  Hemant Kumar  Music: Hemant Kumar, Lyrics: Kaifi Azmi

Kohraa (1964)

Kohraa (1964)

ये नयन डरे डरे, ये जाम भरे भरे
ज़रा पीने दो
कल की किसको खबर, इक रात होके निडर
मुझे जीने दो

(रात हसीं ये चाँद हसीं
तू सबसे हसीं मेरे दिलबर ) – २
और तुझसे हसीं
और तुझसे हसीं तेरा प्यार
तू जाने ना
ये नयन डरे डरे, ये जाम भरे भरे
ज़रा पीने दो
ये नयन डरे डरे

(प्यार मे है जीवन की खुशी
देती है खुशी कई गम भी ) – २
मै मान भी ल
मै मान भी लूँ, कभी हार
तू माने ना

ये नयन डरे डरे, ये जाम भरे भरे
ज़रा पीने दो
कल की किसको खबर, इक रात होके निडर
मुझे जीने दो
ये नयन डरे डरे

(atulsongday) Ye Nayan Dare Dare

Posted in Uncategorized | Leave a comment

Modern Girl (1961) – Ye Mausam Rangiin Samaa

Singers: Mukesh, Suman Kalyanpur  Music: Ravi, Lyrics: Gulshan Bawra

( ये मौसम रंगीन समा ठहर ज़रा ओ जान-ए-जां
तेरा मेरा मेरा तेरा प्यार है तो फिर कैसा शरमाना ) – (२)
रुक तो मैं जाऊँ जान-ए-जां मुझको है इनकार कहाँ
तेरा मेरा मेरा तेरा प्यार सनम न बन जाए अफ़साना

( ये चाँद और सितारे, कहते हैं मिल के सारे
आजा प्यार करें ) – (२)
ये चाँद बैरी देखे ऐसे में बोलो कैसे
इक़रार करें
दिल में है कुछ कहे ज़ुबां
प्यार यही है जान-ए-जां
तेरा मेरा मेरा तेरा प्यार सनम न बन जाए अफ़साना

ये मौसम रंगीन समा ठहर ज़रा ओ जान-ए-जां
तेरा मेरा मेरा तेरा प्यार है तो फिर कैसा शरमाना
ये प्यार की लम्बी राहें बाहों में डाले बाहें
कहीं दूर चलें
बैठे हैं घेरा डाले ये ज़ालिम दुनिया वाले
हमें देख जले
ठहर ज़रा ओ जान-ए-जां
मुझको है इनकार कहाँ
तेरा मेरा मेरा तेरा प्यार है तो फिर कैसा शरमाना

(atulsongaday) Ye Mausam Rangiin Samaa

Posted in Uncategorized | Leave a comment

Khatta Meetha (2010) – Sajde

Singers: K.K., Sunidhi Chauhan, Lyrics: Irshad Kamil, Music: Pritam

Khatta Meetha (2010)

Khatta Meetha (2010)

सजदे  किये  हैं लाखों
लाखों दुआएं मांगी
पाया  है मैने फिर  तुझे

चाहत  की  तेरी  मैने
हक  में हवाएं  मांगी
पाया  है मैने फिर  तुझे

तुझसे  ही  दिल  यह  बहला
तू  जैसे  कलमा पहला
चाहूँ  न  फिर  क्यूँ  मैं  तुझे

जिस  पल  न  चाहा तुझको
उस  पल  सज़ाएं  मांगीं
पाया  है मैने फिर  तुझे


सजदे  किये  हैं लाखों
लाखों दुआएं मांगी
पाया  है मैने फिर  तुझे

जाने  तू  सारा  वोह
दिल  में  जो  मेरे  होपढ़  ले  तू आँखें  हर  दफा

नखरे  से  न  जी  भी
होती  है  राज़ी  भी
तुझसे  ही होते हैं ख़फ़ा

जाने  तू  बातें सारी
कटती हैं रातें सारी
जलते दिये से अनबुझे

खुद  को  मिटाया मैने
तेरी  बालाएं  मांगी
पाया  है मैने फिर  तुझे

हो
चाहे तू चाहे  मुझको
ऐसी  अदाएं  मांगी
पाया  है मैने फिर  तुझे

(wikipedia) Khatta Meetha (2010)

 

 

Posted in Uncategorized | Leave a comment